Horizontal Banner
×

Warning

JUser: :_load: Unable to load user with ID: 807

आयुक्त से मिले भाजपाई: राजनांदगांव के लोगों को परेशान कर रहे आवारा स्वान, राहत देने तैयार करें प्लान

नगर निगम नेताप्रतिपक्ष के नेतृत्व में भाजपा पार्षदों के प्रतिनिधि मंडल ने दो मांगो को लेकर आयुक्त से चर्चा कर ज्ञापन सौंपा

राजनांदगांव. भाजपा पार्षद दल के प्रतिनिधि मंडल ने  नेताप्रतिपक्ष किशुन यदु के नेतृत्व में नगर निगम आयुक्त चंद्रकांत कौशिक को दो बिंदुओं को लेकर ज्ञापन दिया है। पहला राजनांदगांव नगर निगम सीमा में आवारा कुत्तों की बढ़ती संख्या को लेकर और दूसरा निगम के सभी नव निर्वाचित पार्षदों को नगर निगम अधिनियम की किताब उपलब्ध कराने की मांग की गई है।

इसे भी पढ़ें: नेता की दबंगई: जहां जाने का नहीं रास्ता आम, नेता प्रतिपक्ष कोठले ने उसी निजी जमीन पर बनवाया मुक्तिधाम

नगर निगम नेताप्रतिपक्ष किशुन यदु ने विस्तार से बताया कि राजनांदगांव शहर में हर गली मोहल्लों में आवारा कुत्तों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है, जिससे आम जनता को कुत्तो के काटने का भय हमेशा बना रहता है। खासकर रात के समय मे तो ये कुत्ते लोगों को दौड़ाते भी है, जिससे मोटरसाइकिल या साइकिल से जा रहे लोगो को कुत्ते के डर में किसी के साथ टकराने (एक्सीडेंट) की भी स्थिति निर्मित हो जाती है।

रात में कॉलोनी में या गली के अंदर कुत्तों के झुंड एक साथ घूमते है और इनके आवाज से लोगों की रूह कांप जाती है। लोगों को चैन से सोने भी नहीं देते। इसलिए नगर निगम द्वारा कुत्तों का बंधिया करण करके  चिन्हित किया जाये, कुत्तों की बढ़ती आबादी को रोकने पहल की जाए। नगर निगम आयुक्त ने चर्चा में आश्वासन दिया है कि जल्द ही कुत्तों की बढ़ती आबादी से हो रही परेशानी के लिए प्लान तैयार किया जाएगा जिससे आम जनता को राहत मिल सके।

इसे भी पढ़ें: नेता की दबंगई: जहां जाने का नहीं रास्ता आम, नेता प्रतिपक्ष कोठले ने उसी निजी जमीन पर बनवाया मुक्तिधाम

पार्षदों के लिए मांगी नगर निगम अधिकनियम की किताब भी

नगर निगम नेता प्रतिपक्ष किशुन यदु ने आयुक्त नगर निगम से सभी निर्वाचित पार्षदों को नगर निगम अधिनियम की किताब शीघ्र उपलब्ध कराने की भी मांग किया है, विदित हो कि पिछले दिनों नगर निगम का बजट सत्र सम्पन्न हुआ। जिसमें बहुत से पार्षदों ने अपनी बातें सभा में रखी। मगर आज पार्षदों को निर्वाचित हुए लगभग 10 माह होने के बाद भी नगर निगम अधिनियम की किताब नहीं दी गई है, जो कि पार्षदों का अधिकार भी है क्योंकि नगर निगम के नियमों की जानकारी अधिकार, कर्तव्य यदि निर्वाचित जनप्रतिनिधि को ही पता नहीं हो तो वे आम जनता मतदाताओं के लिए उपयुक्त स्थान पर अपनी बात कैसे रखेंगे, अतः शीघ्र ही सभी निर्वाचित प्रतिनिधियों को नगर निगम अधिनियम की किताब उपलब्ध कराई जाए।

आयुक्त कौशिक ने इस मांग पर भी शीघ्र अमल करते हुए सभी पार्षदों को अधिनियम की किताब उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया है। इस अवसर पर नगर निगम नेता प्रतिपक्ष के साथ पार्षद गण- पारस वर्मा, विजय रॉय, सुश्री मनीभास्कर गुप्ता, शरद सिन्हा, गगन आईच, मधु बैद, अजय छेदैइया, पार्षद प्रतिनिधि गण- आशीष डोंगरे, राजेश यादव, अरुण दामले, अरुण साहू, रोहित यादव उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़ें: नेता की दबंगई: जहां जाने का नहीं रास्ता आम, नेता प्रतिपक्ष कोठले ने उसी निजी जमीन पर बनवाया मुक्तिधाम

Rate this item
(0 votes)
Last modified on Thursday, 22 October 2020 14:45

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Latest Tweets

खैरागढ़ में चार बच्चों सहित 24 संक्रमित, 80 साल के बुजुर्ग को भेजा एम्स, बिना मास्क वालों पर बढ़ाई सख्ती -… https://t.co/PCdmzTeTiu
खैरागढ़ में चार बच्चों सहित 24 संक्रमित, 80 साल के बुजुर्ग को भेजा एम्स, बिना मास्क वालों पर बढ़ाई सख्ती… https://t.co/HTgJDTWuOO
गोपाष्टमी पर सांसद ने सुर में गाए रामायण के दोहे, फिर बोले- गौशाला जाओ, मधुशाला जाने की जरूरत नहीं… https://t.co/UUiyfEvnym
Follow Ragneeti on Twitter